श्री काली जगन्मंगल कवच


भैरव्युवाच काली पूजा श्रुता नाथ भावाश्च विविधाः प्रभो । इदानीं श्रोतु मिच्छामि कवचं पूर्व सूचितम् ॥ त्वमेव शरणं नाथ त्राहि माम् दुःख संकटात् । सर्व दुःख प्रशमनं सर्व पाप प्रणाशनम्

 

श्री कालिका सहस्त्रनाम व काली सहस्त्रनाम


शाक्ततंत्र सर्वसिद्धिप्रद है जिसमे करकादी स्तोत्र और कालिका सहस्त्रनाम का उल्लेख तीक्ष्ण प्रभावशाली बताया गया है। कालिका सहस्रनाम अर्थात काली सहस्त्रनाम का पाठ करने की अनेक गुप्त विधियाँ हैं, जो



महाकाली की चौकी भेजें, शत्रु मारण


महाकाली की चौकी भेजने की प्रचीन गुप्त साधना महाकाली की चौकी भेजकर शत्रु मारण की विधि विडियो मे बताई गई है। पूरी विधि सबधानीपूर्वक देखकर ही उपयोग मे लाएँ एवं