इन्द्राक्षी स्तोत्र


इस पाठ का फल अतिशीघ्र फलदायी होता हैं रोग,क्लेश,ग्रह पीड़ा,बाधा,शत्रु,दुख आदि निवारण में यह सहायक हैं धन,धान्य,ऐश्वर्य,सुख,यश,कीर्ति,सम्मान,पद प्रतिष्ठा,आरोग्य,पुष्टि प्राप्ति हेतु करे इसका पाठ करें। श्रीगणेशाय नमः विनियोग अस्य श्री इन्द्राक्षीस्तोत्रमहामन्त्रस्य,शचीपुरन्दर



आद्यशक्ति मां काली की 64 योगिनियां


प्राचीन तंत्र शास्त्र में 64 योगिनियां बताई गई हैं। कहा जाता है कि ये सभी आद्यशक्ति मां काली की ही अलग-अलग कला है। इनमें दस महाविद्याएं तथा सिद्ध विद्याएं भी



साधना करते समय साधक के अनुभव


साधना करने के दौरान प्रत्येक साधक को होने वाले अनुभव शारीरिक दर्द, विशेष रूप से गर्दन, कंधे और पीठ में। यह आपके आध्यात्मिक डीएनए स्तर पर गहन परिवर्तन का परिणाम



महाकाली की चौकी भेजें, शत्रु मारण


महाकाली की चौकी भेजने की प्रचीन गुप्त साधना महाकाली की चौकी भेजकर शत्रु मारण की विधि विडियो मे बताई गई है। पूरी विधि सबधानीपूर्वक देखकर ही उपयोग मे लाएँ एवं